किसी को भी भूलकर ना बताये ये 4 बाते ,  जींवनभर रहेगा पछतावा

चाणक्य जी कहते है , हर इंसान के जींवन में धन का नुक्सान तो होता ही है।

लेकिन धन के नुक्सान होने की बात कभी किसी को  नहीं बतानी  चाहिए।

काफी घरो में कलेश होता है।, लेकिन किसी को भी बताना नहीं चाहिए। 

चाणक्य के अनुसान जो इंसान इन बातो की जानकारी दुसरो को नहीं देता है वही बुद्धिमान व्यक्ति होता है।